हार्दिक पटेल का जीवन परिचय, जन्म, उम्र, परिवार, पत्नी, राजनीतिक दल, नेटवर्थ | Hardik Patel Biography in Hindi

Social Share

हार्दिक पटेल का जीवन परिचय, जन्म, उम्र, परिवार, पत्नी, राजनीतिक दल, नेटवर्थ, गांव, हाउस, शिक्षा, करियर, फेसबुक,ट्विटर, लिंकडिन, इंस्टाग्राम [Hardik Patel Biography in Hindi] (MLA, Birth, Age, Family, Wife, Political Party, Net Worth, Village, House, Education, Career, Facebook, Twitter, Linkedin, Instagram)

हार्दिक पटेल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य हैं। हार्दिक पटेल गुजरात की सियासत का बड़ा नाम हैं , जो पाटीदार आंदोलन के बाद सुर्खियों में आए।हार्दिक पटेल गुजरात में पटेल समुदाय द्वारा ओबीसी दर्जे की मांग को लेकर जारी आरक्षण आंदोलन के युवा नेता हैं। ये ओबीसी दर्जे में पटेल समुदाय को जोड़कर सरकारी नौकरी और शिक्षा में आरक्षण की मांग चाह रहे हैं। इन्हे गुजरात के दंगो मे शामिल होने के कारण 2 साल की सजा मिली है।

हार्दिक पटेल का जन्म 20 जुलाई 1993 को चन्दन नगरी, गुजरात में हुआ था। इनके पिता का नाम भरत और माता का नाम उषा पटेल है। वर्ष 2004 में अपने बच्चे की अच्छी शिक्षा हेतु इनका परिवार वीरमगम शहर चला गया। इनके पिता भरत पटेल पूर्व में बीजेपी के कार्यकर्ता रह चुके हैं और इस कारण ही पाटीदार केस के दौरान उन्होंने गुजरात की तत्कालीन मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल से मिलकर बात को सुलझाने की कोशिश भी की थी।

हार्दिक पटेल भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले हैं। 2 जून को भाजपा में शामिल हो रहे हार्दिक पटेल ने 18 मई को कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। इसी साल होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक पटेल के इस कदम से सियासी गलियारे में हलचल तेज हो गई है। चुनाव से पहले पार्टी छोड़कर हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया और उनका यह कदम भाजपा के लिए फायदेमंद हो सकता है।

Hardik Patel Image Credit : Instagram

हार्दिक पटेल का जीवन परिचय

नाम (Name) हार्दिक पटेल (Hardik Patel)
जन्म (Birth) 20 जुलाई 1993
जन्म स्थान
(Birth Place)
गुजरात
गृहनगर
(Hometown)
वीरमगाम, अहमदाबाद, गुजरात
उम्र (Age) 28 साल (2022)
पेशा (Profession) राजनीतिज्ञ (Politician)
राजनीतिक दल (Party) भारतीय जनता पार्टी (Bjp)
हाइट (Height) 5 फिट 5 इंच (लगभग)
शिक्षा (Education) बी.कॉम
स्कूल (School) दिवा ज्योत हाई स्कूल, वीरमगाम
केवी शाह विनय मंदिर, वीरमगाम
कॉलेज (College) गुजरात विश्वविद्यालय
वैवाहिक स्थिति (Marital Status) विवाहित
हाउस (House) अहमदाबाद,गुजरात
विवाह वर्ष 2019
जाति (Caste) पाटीदार
धर्म (Religion) हिन्दू
राष्ट्रीयता भारतीय

हार्दिक पटेल परिवार (Hardik Patel Family)

पिता (Father’s Name) भरत पटेल
माता (Mother’s Name) उषा पटेल
बहन (Sister) मोनिका पटेल
पत्नी (Spouse) किंजल पटेल

हार्दिक पटेल की शिक्षा

हार्दिक ने 6वीं से 8वीं की कक्षा दिव्य ज्योत विद्यालय, वीरमगम में पूरी की। इन्होंने अपनी 7वीं कक्षा उत्तीर्ण होने के पश्चात अपने पिता के छोटे से व्यापार को चलाने में सहायता की। इनके पिता भूमिगत पानी के कुओं में नल लगाने का कार्य करते थे। वर्ष 2010 में हार्दिक ने सहजानन्द महाविद्यालय, अहमदाबाद में बी.कॉम की पढ़ाई की। कॉलेज में पढ़ते हुए ही उन्होंने विरमगाम बस स्टैंड पर जनसेवा करना शुरू किया।

उन्होंने महाविद्यालय के छात्र संघ के महासचिव के पद के चुनाव में भाग लिया और निर्विरोध निर्वाचित हो गए।इसलिए ये माना जा सकता हैं कि यही से हार्दिक के राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुयी थी। 2013 में 2 प्रयासों के बाद 50 % मार्क्स के साथ उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की थी। टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार पटेल ने 49.6 % के साथ बीकॉम किया हैं। हालांकि हार्दिक पटेल पढ़ाई में कमजोर थे ,लेकिन पढाई में औसत रहने के बावजूद भी हार्दिक ने गुजरात सरकार को हिलाकर मीडिया में काफी सुर्खियाँ बटोरी थी।

हार्दिक पटेल नेटवर्थ

वर्ष 2020 से 2022 तक हार्दिक पटेल की नेटवर्थ 1-5 मिलियन डॉलर के लगभग बताई जा रही है।

राजनीतिक जीवन :

वैसे तो इन्होने पाटीदार संघर्ष के साथ ही अपना राजनीतिक जीवन शुरू कर दिया था, लेकिन राज्य के चुनावों में इन्होंने गुजरात में शिव सेना का केम्पेन चलाने का निर्णय किया था। बाद में उन्होंने शिव सेना का साथ छोड़ दिया और राज्य में कांग्रेस का चुनाव प्रचार करने लगे,और अंतत: वो राजनीति की मुख्यधारा में आ ही गए।

वर्ष 2011 में हार्दिक सरदार पटेल समूह से जुड़े और जुलाई 2015 में हार्दिक की बहन मोनिका राज्य सरकार की छात्रवृत्ति प्राप्त करने में विफल रही। इस कारण उन्होंने एक पाटीदार अनामत आंदोलन समिति का निर्माण किया। जिसका लक्ष्य अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल होना था। पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल ने किसानों की कर्ज माफी, पाटीदार आरक्षण और राजद्रोह के मामले में जेल में बंद अपने एक साथी अल्पेश कथिरिया की रिहाई की मांग को लेकर 25 अगस्त 2018 से चल रहे उनके आमरण अनशन को 19 वें दिन 12 सितम्बर 2018 को समाप्त कर दिया।

हार्दिक पटेल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य हैं। हार्दिक 12 मार्च 2019 को कांग्रेस के सदस्य बने। जिसके बाद मात्र 16 महीनों में ही उन्होंने पार्टी के प्राथमिक सदस्य से लेकर कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष तक का सफर तय कर लिया।31 अक्टूबर 2012 को ये अपने समाज के युवा वर्ग के एक ग्रुप का हिस्सा बने। अपनी योग्यता और समपर्ण से वो एक महीने के भीतर ही विरंगम यूनिट के प्रेसिडेंट बन गए , और इस दौरान उन्हें राज्य में पटेल समाज की स्थिति समझ आयी।

उन्होंने देखा कि पटेलों को सरकारी और निजी सेक्टर में नौकरी के लिए कितना संघर्ष करना पड़ता हैं, और पटेल किसानों को भी अपनी जमीन शहरीकरण और औद्योगीकरण के चलते सरकार को देनी पड़ती हैं। उन्होंने यह भी देखा कि पाटीदार समाज को अपने पारम्परिक डाईमंड के बिजनेस से पलायन करना पड़ रहा हैं। इसलिए उन्होंने अपने समाज के लिए काम करने का फैसला किया। 2015 में उन्हें लालजी पटेल के साथ विवाद के कारण आँर्गेनाइजेशन से हटा दिया गया। लेकिन उनका समाज के लिए संघर्ष ना केवल जारी रहा बल्कि काफी आगे तक बढ़ा।

पटेल ने 6 जुलाई 2015 को पहली रैली विसनगर गुजरात में की थी। जिसके आमंत्रण-पत्र को उन्होंने सिर्फ सोशल मीडिया पर मैसेज के माध्यम से फॉरवर्ड किया था और बहुत बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गये थे। इसके बाद हार्दिक ने पूरे गुजरात में रैलियों की बाढ़ लगा दी थी और उनके भाषणों के कारण ही सपोर्टर बढने लगे।

इस तरह ये कहा जा सकता है कि 2015 में गुजरात में हुए पाटीदार संघर्ष का मुख्य चेहरा हार्दिक थे ,लेकिन ये संघर्ष काफी हिंसक था। जिससे गुजरात के बहुत से जिलों में काफी नुक्सान हुआ। इस दौरान मेहसाना के एक जिले विसनगर में एफआईआर दर्ज करवाई गयी। जिसमें हार्दिक को पाटीदार समाज की रैली के बाद फैली हिंसा के लिए जिम्मेदार बताया गया। उस समय ही विधायक का ऑफिस और वहाँ खड़ी कार भी जलाई गयी थी।

हार्दिक पटेल के भूख-हडताल शुरू करने के बाद अहमदाबाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। उन पर आईपीसी की धारा 151 के तहत चार्ज लगाया गया। उनकी गिरफ्तारी से पूरे राज्य में हिंसा की आग भडक गयी। राज्य सरकार को कर्फ्यू लगाना पड़ा और इंडियन आर्मी तक की मदद लेनी पड़ी। फिर इसी साल में इन्होने अन्य राज्यों में भी इस समाज के लोगों को संबोधित किया और इस रैली के बाद वो गायब हो गये और जब लौटे तो उन्होंने ये दावा किया कुछ लोगों ने उन्हें जबरदस्ती पकडकर रखा था।

9 सितम्बर 2015 को उन्होंने पटेल नव निर्माण सेना का गठन किया। इस ऑर्गनाइजेशन का एकमात्र उद्देश्य पाटीदार, कुर्मी और गुज्जर को ओबीसी में शामिल करना और उन्हें सरकारी नौकरियों में लाभ दिलाना था।18 अक्टूबर 2015 को भारत के राष्ट्रीय झंडे के अपमान में भी उनकी नींदा की गयी। इसके लिए राजकोट में उन पर केस हुआ। उन पर भारत और साउथ अफ्रीका के मध्य होने वाले वन डे इंटरनेशनल में बाधा डालने की कोशिश का भी आरोप लगा।

सूरत में उन पर गम्भीर राजद्रोह का आरोप लगा जिसमें उन्होंने पुलिस वालो को मारने के लिए पाटीदारों को प्रेरित किया था। 15 जुलाई 2016 में उन्हें जमानत मिली और अगले 6 महीने के लिए राज्य से बाहर और अगले 9 महीने के लिए मेहसाना से बाहर रहने का आदेश दिया गया।

हार्दिक पटेल ने 18 मई 2022 को कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने के बाद उन्होंने गुजरात के कांग्रेस नेताओं पर कई टिप्पीणियां की। जिसके लपेटे में उन्होंने राहुल गांधी को भी नहीं छोड़ा। उन्होंने हमला करते हुए कहा कि, पार्टी आलाकमान को किसी भी मुद्दे की कोई फिक्र नहीं है। वो सिर्फ बड़े बिजनेसमेन की बाते करते हैं। उन्हें गुजरातियों की कुछ नहीं पड़ी। वो हमेशा उन्हें चोर बताते हैं। जिसके बाद कांग्रेस ने उनपर पलटवार किया और कहा कि, हार्दिक पटेल पर पहले से ही राष्ट्रद्रोह का मामला दर्ज है। जिसके कारण वो जेल जाने से बचने के लिए बीजेपी का साथ दे रहे हैं और खुद को देशभक्त साबित कर रहे हैं।

विवाद

हार्दिक पटेल के नजदीकी मित्रों चिराग पटेल और केतन पटेल ने उन पर पाटीदार समाज के फंड का गलत इस्तेमाल के आरोप लगाये थे और यह भी कहा था कि वो कांग्रेस प्रेसिडेंट और वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी से सीक्रेट मीटिंग करते हैं। नवम्बर 2017 में उनकी सेक्स टेप ने मीडिया और उनके समर्थकों को चौका दिया था। लेकिन पटेल ने ये दावा किया था कि ये बीजेपी का गंदा राजनीतिक खेल हैं, लेकिन इससे उनकी छवि काफी धूमिल हो गयी थी।

सोशल मीडिया (Social Media)

instagram Click Here
Twitter Click Here
Facebook Click Here
LinkedIn

FAQ :

Q : हार्दिक पटेल कहां के रहने वाले हैं ?

Ans : गुजरात

Q : हार्दिक पटेल की पत्नी कौन हैं ?

Ans : हार्दिक पटेल की पत्नी का नाम किंजल पटेल है, जिनसे इन्होंने 2019 में विवाह किया था।

Q : हार्दिक पटेल कौन है ?

Ans : ये गुजरात के युवा नेता हैं। जो हमेशा समाज के लिए काम करना पसंद करते हैं।

Q : हार्दिक पटेल ने किस पार्टी से इस्तीफा दिया ?

Ans : कांग्रेस पार्टी से।

Q : हार्दिक पटेल किस अपराध में फंसे हुए थे ?

ANS : भड़काऊ भाषण और संपत्ति को क्षति पहुंचाने के आरोप में।

अन्य पोस्ट पढ़े :


Social Share

Leave a Comment

जानिए रविंद्र जडेजा क्यों हुए वर्ल्ड कप से बाहर लाइगर फिल्म अभिनेत्री अनन्या पांडे फैक्ट मीराबाई चानू ने जीता बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक Actress Tara Sutaria Biography, Age, Height, Family, Moveis, Networth भारती और हर्ष पहली बार नजर आए अपने बेबी के साथ जानिए बेबी का नाम बॉलीवुड की हॉट एक्ट्रेस दिशा पाटनी के बारे में जाने