अग्नीपथ योजना 2022, अग्नीपथ भर्ती योजना, अग्नीपथ योजना क्या है | Agneepath Scheme 2022

Social Share

अग्नीपथ योजना 2022, अग्नीपथ भर्ती योजना, अग्नीपथ योजना क्या है, अग्नीपथ योजना 2022 डीटेल्स हिंदी में, अग्नीपथ योजना आवेदन, अग्नीपथ योजना पात्रता, अग्निपथ योजना सैलरी, अग्निपथ योजना ऑफिशल वेबसाइट, अग्नीपथ योजना के फायदे व नुकसान, अग्नीपथ योजना के लिए क्वालिफिकेशन क्या है [Agneepath Scheme 2022] (Agneepath Scheme, Agneepath Recruitment Scheme, What is Agneepath Scheme, Agneepath Scheme 2022 details in Hindi, Agneepath Scheme Application, Agneepath Scheme Eligibility, Agneepath Scheme Salary, Agneepath Scheme Official Website, Agneepath Scheme Advantages and Disadvantages, What is the Qualification for Agneepath Scheme)

अग्नीपथ योजना 2022 (Agneepath Scheme 2022)

Contents hide
1 अग्नीपथ योजना 2022 (Agneepath Scheme 2022)

अग्नीपथ योजना ”टूर ऑफ ड्यूटी सिस्टम स्कीम” है। जिसके तहत तीनों सेनाओं में युवाओं की भर्ती होने जा रही है। केंद्र सरकार ने भारतीय सेना में नए सैनिकों की भर्ती के लिए बड़े बदलाव की बात कही है। इसकी घोषणा औपचारिक रूप से हुई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेनाओं के प्रमुखों की मौजूदगी में इस योजना की शुरुआत की और कहा कि ”अग्निपथ भर्ती से रोजगार बढ़ेगा और युवाओं को सेना में बेहतरीन मौका मिलेगा और यह भी कहा कि देश की रक्षा के लिए ये वीर तैयार होंगे क्योंकि रक्षा विभाग को पहले से ज्यादा मजबूत किया गया है”।

इस योजना के तहत भर्ती होने वाले युवाओं को 4 साल तक अपनी सेवाएं देनी होंगी। इसके बाद भर्ती हुए लोगों में से 25% युवाओं की स्थाई नियुक्ति कर दी जाएगी और बाकी बचे हुए 75% युवाओं को रकम देकर सेना से मुक्त कर दिया जाएगा। लेकिन इन्हें निजी सेक्टर में जॉब के लिए पूरा सहयोग दिया जाएगा।

देश के कुछ हिस्सों में अग्निपथ योजना का विरोध हो रहा है। छात्रों का कहना है कि केवल 4 साल नौकरी का मौका मिलेगा उसके बाद फिर क्या होगा? इसके जवाब में सरकार का कहना है कि अधिकतर युवा 12वीं के बाद स्किल ट्रेनिंग लेते हैं या हायर एजुकेशन लेते हैं और फिर जॉब ढूंढते हैं। हम युवाओं को एक साथ तीन मौके दे रहे हैं। उन्हें अच्छी सैलरी मिलेगी, चार साल में अच्छा बैंक बैलेंस हो जाएगा। साथ ही जॉब के दौरान उन्हें स्किल ट्रेनिंग भी दी जाएगी।  

अग्नीपथ योजना 2022 (Agneepath Scheme 2022)

योजना का नाम अग्नीपथ योजना
आरंभ भारत सरकार द्वारा
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य युवाओं को सेना में भर्ती करना
अग्निपथ योजना ऑफिशल वेबसाइट
Agneepath Scheme Official Website
www.mod.gov.in
joinindianarmy.nic.in
indianairforce.nic.in
www.joinindiannavy.gov.in
न्यूनतम एवं अधिकतम आयु 17.5 – 21 वर्ष
घोषणा वर्ष 14 June 2022 
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
सैलेरी 30 – 40 हजार रुपये
अग्नीपथ योजना के लिए क्वालिफिकेशन क्या है
What is the Qualification for Agneepath Scheme
12 Th PASS

अग्नीपथ योजना 2022 (अग्नीपथ भर्ती योजना)

(Agneepath Recruitment Scheme)

अग्नीपथ योजना इंडियन आर्मी को दुनिया की बेहतरीन आर्मी बनाने के लिए लागू किया जा रहा है, जो सेना में परिवर्तन या बदलाव लाएगी और सेना को सरल बनाएगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि अग्निपथ योजना के तहत सशस्त्र बलों में युवाओं को तैयार करने की कोशिश की जा रही है ,यह युवाओं को नई टेक्नोलॉजी के लिए ट्रेंड करेगा और उनके स्वास्थ्य के स्तर में सुधार करने में भी मददगार होगा।

इस भर्ती के तहत सेनाओं में युवाओं की भर्ती की जाएगी और भर्ती होने वाले युवाओं को 4 साल तक अपनी सेवाएं सेना में देनी होंगी। इसके बाद भर्ती हुए युवाओं में से 25% को स्थाई नियुक्त किया जाएगा और बाकी बचे 75% युवाओं को कुछ पैसे देकर सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा और और रिटायरमेंट पैकेज भी दिया जाएगा। इन्हें प्राइवेट जॉब ढूंढने के लिए भी सहयोग दिया जाएगा। इससे बेरोजगारी को कम करने का मौका मिलेगा।

अग्नीपथ योजना 2022, क्या है (What is Agneepath Scheme)

सेनाओं को youthfull बनाने के लिए अग्निपथ स्कीम लाई गई है, तथा युवाओं को सेना से जोड़ने और सशस्त्र सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए 14 जून को अग्निपथ स्कीम की घोषणा की गई। जिसे केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के द्वारा लागु किया गया। केंद्र सरकार ने कोरोना काल में सेना भर्ती न होने से उम्र पार कर चुके युवाओं को बड़ी राहत दी है वे युवा अब अग्नीपथ योजना के तहत सेना में भर्ती हो सकेंगे।

इस योजना के तहत आयु सीमा 21 साल से बढ़ाकर 23 साल कर दी है। लेकिन यह सीमा केवल इस साल के लिए ही बढ़ाई है। अभी तक भर्ती के लिए सरकार ने साढ़े 17 वर्ष से लेकर 21 साल तक की आयु निर्धारित की थी। इस योजना के अंतर्गत भर्ती किए गए नौजवानों को अग्निवीर कहा जाएगा। इस योजना के अंतर्गत लड़कियों का भी चयन किया जाएगा। 

अग्नीपथ योजना 2022,पात्रता (Agneepath Scheme Eligibility)

  • आयु 17.5 से 21 वर्ष साल तक।
  • शैक्षिक योग्यता 12वीं पास।
  • सेवा अवधि प्रशिक्षण अवधि समेत 4 वर्ष।
  • चयन प्रक्रिया पारदर्शी, केंद्रीकृत और स्वचालित।
  • अग्नीपथ या अग्निवीरों का नामांकन ”संबंधित सेवा अधिनियम एवं विनिमय” के तहत।
  • भारत का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • अग्निवीरों का केंद्रीकृत डाटा और रिकॉर्ड।

डॉक्युमेंट्स (Document)

आधार कार्ड, निवास प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, आयु का प्रमाण, 10वीं या 12वीं कक्षा की मार्कशीट, मेडिकल सर्टिफिकेट, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ,मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी .

अग्निपथ योजना की चयन प्रक्रिया

  • इस योजना के अंतर्गत उम्मीदवारों का चयन सेना द्वारा जारी की गई मेरिट लिस्ट के आधार पर किया जाएगा।
  • लिखित परीक्षा, फिजिकल टेस्ट, साक्षरता आदि के आधार पर मेरिट लिस्ट को तैयार किया जाएगा।

नियम व शर्तें

  • अग्निवीरों का नामांकन प्रशिक्षण अवधि सहित 4 वर्ष के लिए किया जाएगा।
  • इच्छुक युवा, संबंधित श्रेणियों/पेशों पर लागू चिकित्सा पात्रता शर्तों को पूरा करेंगे।
  • शत प्रतिशत अग्निवीरों को नियमित संवर्ग में नामांकन का विकल्प चुनने का विकल्प दिया जाएगा।
  • प्रत्येक बैच के 25% अग्निवीरों को सशस्त्र बलों के नियमित संवर्ग में नामांकित किया जाएगा।
  • फिजिकल स्‍टैंडर्ड और फिजिकल एफिशिएंसी टेस्‍ट के आधार पर ही उम्‍मीदवारों का चयन होगा। जो 4 वर्षों के लिए अग्निवीर के तौर पर सेना में अपनी सेवाएं दे सके।

अग्नीपथ योजना के फायदे व नुकसान

(Agneepath Scheme Advantages and Disadvantages)

फायदे :

  • इस योजना से रोजगार की वृद्धि की संभावना होगी और विभिन्न क्षेत्रों में नई स्किल के साथ रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
  • अग्निवीर सेवा से अर्जित कौशल एवं अनुभव से युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार प्राप्त होगा।
  • इससे अर्थव्यवस्था को भी उच्च कुशल कार्यबल की प्राप्ति होगी जो उत्पादकता लाभ और सकल सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि में सहायक होगा।
  • अग्नीपथ योजना के तहत हर साल लगभग 45000 युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा।
  • अग्निवीरों को बढ़िया पेमेंट पैकेज दिया जाएगा और 4 साल की सर्विस के बाद रिटायरमेंट पैकेज भी दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत सशस्त्र बलों में युवा को तैयार करने की कोशिश कि जाएगी और युवाओं को नई टेक्नोलॉजी के लिए ट्रेनिंग भी दी जाएगी , तथा उनके स्वास्थ्य के स्तर में सुधार करने की भी कोशिश की जाएगी।
  • गृह मंत्रालय ने इस योजना में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि अग्निपथ योजना के तहत सेवा के चार साल बाद यूपी सरकार पुलिस और अन्य संबंधित सेवाओं में इन्हें प्राथमिकता दी जाएगी।
  • असम के सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा कि जो लोग 4 साल बाद ‘अग्निवीर’ की जॉब से वापस आएंगे उन्हें ”असम आरोग्य निधि पहल” में प्राथमिकता दी जाएगी।
  • सेवा के दौरान अगर कोई अग्निवीर वीरगति को प्राप्त हो जाता है तो उसके परिवार को एक करोड़ की सहायता राशि मिलेगी, साथ ही अग्निवीर की बची हुई सेवा की सैलरी भी परिवार को मिलेगी।
  • अग्निवीरों को 4 साल का कार्यकाल पूरा करने के पश्चात certificate भी प्रदान किया जाएगा।

नुकसान :

  • इस योजना को लेकर देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध शुरू हो गया है। छात्र इसके विरोध में सड़क पर उतर गए हैं।
  • सेना में स्थाई नौकरी नहीं होगी।
  • रिटायरमेंट के बाद पेंशन नहीं मिलेगी।

अग्निपथ योजना सैलरी (Agneepath Scheme Salary)

अग्निवीरों को 30 हजार से 40 हजार रुपये महीना सैलरी और अन्य फायदे दिए जाएंगे। इस दौरान अग्निवीर तीनों सेवाओं के स्थाई सैनिकों की तरह अवार्ड मेडल और इंश्योरेंस कवर भी ले पाएंगे और इन्हें 48 लाख रुपए का बीमा कवर भी मिलेगा। अगर सेवा के दौरान शहीद या दिव्यांग हो जाते हैं ,तो 44 लाख रुपए तक का मुआवजा भी दिया जाएगा। 4 साल पूरे होने के बाद 25 फ़ीसदी को फिर सेना में 15 साल और सेवा करने का मौका मिलेगा। 4 साल बाद जो अग्निवीर बाहर हो जाएंगे उन्हें सेवा निधि पैकेज के तहत टैक्स फ्री करीब 12 लाख रुपए एकमुश्त राशि मिलेगी।

वर्ष मासिक पैकेज सैलरी हाथ में फंड 30% सरकार द्वारा दिया गया फंड
पहला साल 30,000 Rs. 21000 Rs. 9000 Rs. 9000 Rs.
दूसरा साल 33,000 Rs. 23100 Rs. 9900 Rs. 9900 Rs.
तीसरा साल 36,500 Rs. 25580 Rs. 10950 Rs. 10950 Rs.
4 साल 40,000 Rs. 28000 Rs. 12000 Rs. 12000 Rs.
4 साल बाद प्राप्त धनराशि 5.02 lakh Rs. 5.02 lakh Rs.

अग्नीपथ योजना 2022 डीटेल्स हिंदी में

(Agneepath Scheme 2022 details in Hindi)

सरकार पूरी तैयारी के साथ सामने आई है। 90 दिनों में आर्मी में भर्ती के लिए पहली रिक्रूटमेंट रैली हो जाएगी। शुरुआती चरण में आर्मी के लिए 40000, नेवी के लिए 3000 और एयरफोर्स के लिए 3,500 अग्निवीरों की भर्तियां होंगी।अग्निपथ स्कीम को सरकार ने गेम चेंजर बताया है। इससे सेना भविष्य की चुनौतियों से बेहतर ढंग से निपट सकेगी। सेना की नौकरी समाज में सम्मान, रिटायर्ड के बाद भी रुतबा, कहा जाता है। सभी को देश सेवा का मौका नहीं मिलता है।

‘अग्निपथ योजना’ (Agnipath Scheme) के तहत आर्मी (Army), नेवी (Navy) और एयरफोर्स (Air Force) में जवानों की भर्तियां होंगी। इनका रैंक मौजूदा रैंक से अलग होगा और ये ‘अग्निवीर’ (Agniveer) कहलाएंगे। इस योजना के तहत हर साल करीब 40-45 हजार युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा। ये युवा साढ़े 17 साल से 21 साल की उम्र के बीच के होंगे।

सरकार का कहना है की नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत उन्हें जो भी फॉर्मल ट्रेनिंग दी जाएगी, उसका क्रेडिट पॉइंट उन्हें मिलेगा। उससे वे चार साल बाद हायर एजुकेशन ले सकते हैं। वे चार साल सेना में रहकर ज्यादा आत्मविश्वास के साथ बाहर जाएंगे। आखिर में मामला पैसे पर ही आता है। बेरोजगारी के परिपेक्ष्य में देखें तो अग्निवीर को जो सैलरी दी जाएगी, वो ठीक-ठाक है। 4 साल की नौकरी में कुल 23 लाख 43 हजार 160 रुपये मिलेंगे। जिसमें हर महीने की सैलरी के अलावा रिटायरमेंट फंड भी शामिल है।

इस नौकरी से 4 साल की नौकरी में अग्निवीरों को पहले साल ₹30,000 मासिक सैलरी मिलेगी और दूसरे साल हर महीने ₹33,000 सैलरी मिलेगी। उसके बाद तीसरे साल में 36,500 और चौथे साल ₹40,000 मासिक सैलरी मिलेगी। इसमें हर महीने सैलरी से 30 फीसद अमाउंट कटेगा और इतनी ही राशि सरकार देगी। सैलरी के अलावा रिस्क और हार्ड शिफ्ट एलाउंस, राशन एलाउंस, ड्रेस और ट्रैवल एलाउंस भी मिलेगा ,अर्थात खाना-पीना, इलाज और रहना सब फ्री मिलेगा।

अग्नीपथ योजना के विरोध का कारण

(Reason for protest against Agneepath scheme)

इस योजना का सबसे ज्यादा विरोध वो युवा कर रहे हैं जिन्होंने पिछले दो वर्षों में सेना की भर्ती में हिस्सा लिया था। सेना में वर्ष 2019 के बाद से भर्ती तो निकाली गई लेकिन इन भर्ती प्रक्रियाओं को अलग अलग कारणों से पूरा नहीं किया गया, और इससे जिन युवाओं का चयन सेना में पुरानी भर्ती प्रक्रिया के तहत हो गया था, उनमें से बहुत सारे युवा अब सेना में नौकरी करने के लिए योग्य नहीं रह गए हैं ,क्योंकि सरकार की तरफ से कहा गया है कि अब सेना के तीनों अंगों में नए सिरे से भर्ती की प्रक्रिया शुरू होगी और पुरानी भर्तियां निष्क्रिय मानी जाएंगी और यही बात बहुत सारे युवाओं को परेशान कर रही है।

अग्निपथ योजना के तहत साढ़े 17 साल से लेकर 21 साल तक के युवा ही सेना में नौकरी के लिए आवेदन दे सकते हैं। लेकिन समस्या ये है कि जो युवा पिछले कुछ वर्षों से सेना की तैयारी कर रहे थे उनकी उम्र 21 वर्ष से ज्यादा हो चुकी है जिसकी वजह से वो नौकरी की रेस से ही बाहर हो गए हैं। बिहार के एक युवा ने 2019 में सेना की भर्ती के लिए आवेदन दिया था। तब उसकी उम्र 20 साल थी।

इस दौरान उसने फिजिकल और मेडिकल टेस्ट पास कर लिया था और इसके बाद उसे सिर्फ Written Exam देना था। जिसे पास करने के बाद उसकी सेना में स्थाई नौकरी लग जाती, लेकिन सरकार ने पुरानी भर्तियों को निष्क्रिय कर दिया और इस सबमें में उसकी उम्र भी अब 22 साल हो गई है। यानी वो नई योजना के तहत नौकरी की दौड़ से बाहर हो गया है और पुराने नतीजों का कोई महत्व नहीं रह गया है। तो यह जो विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं उनमें युवा बड़ी संख्या में है। जो अपनी उम्र की वजह से सेना में भर्ती नहीं हो सकेंगे।

FAQ :

Q : अग्नीपथ योजना कब शुरू हुई ?

ANS : 14 June 2022

Q : अग्नीपथ योजना के तहत सैलरी कितनी है ?

ANS : 30 – 40 हजार रुपये मासिक।

Q : अग्नीपथ योजना की ऑफिशियल वेबसाइट क्या है ?

ANS : www.mod.gov.in, joinindianarmy.nic.in, indianairforce.nic.in, www.joinindiannavy.gov.in

Q : अग्नीपथ योजना के तहत क्वालिफिकेशन क्या है ?

ANS : 12वीं पास।

अन्य पोस्ट पढ़ें :


Social Share

Leave a Comment

जानिए रविंद्र जडेजा क्यों हुए वर्ल्ड कप से बाहर लाइगर फिल्म अभिनेत्री अनन्या पांडे फैक्ट मीराबाई चानू ने जीता बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक Actress Tara Sutaria Biography, Age, Height, Family, Moveis, Networth भारती और हर्ष पहली बार नजर आए अपने बेबी के साथ जानिए बेबी का नाम बॉलीवुड की हॉट एक्ट्रेस दिशा पाटनी के बारे में जाने