अचिंता शेउली का जीवन परिचय, वेटलिफ्टर, उम्र, हाइट, रिकॉर्ड, मेडल, परिवार, नेटवर्थ | Achinta Sheuli Biography in Hindi

Social Share

अचिंता शेउली का जीवन परिचय, वेटलिफ्टर, उम्र, हाइट, रिकॉर्ड, मेडल, परिवार, नेटवर्थ, करियर, पूरा नाम, वेट, शिक्षा, इंस्टाग्राम, ट्विटर, राज्य, धर्म, जाति, प्रतिस्पर्धा, वाइफ, गर्लफ्रेंड, कोच [Achinta Sheuli Biography in Hindi] (Weightlifter, Age, Height, Record, Medal, Family, Net Worth, Career, Full Name, Weight, Education, Instagram, Twitter, State, Religion, Caste, Competition, Wife, Girlfriend, Coach)

अचिंता शेउली एक भारतीय भारोत्तोलक है, जो 73 किलोग्राम भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते है। उन्होंने 2021 जूनियर विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में रजत पदक जीता और दो बार राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता हैं। 2022 के राष्ट्रमंडल खेलों में, उन्होंने 313 किलोग्राम का खेलों का रिकॉर्ड बनाया और स्वर्ण पदक जीत लिया।

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत का तीसरा गोल्ड दिलाने वाले अचिंता शेउली ने जिन परिस्थितियों में देश को खुश होने का मौका दिया है, वह प्रेरित करने वाला है। बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले अंचित शुली ने अपने खेल के दम पर जमीन से आसमान तक का सफर तय किया है। पश्चिम बंगाल के एक गरीब परिवार में जन्मे अचिंता भारत को तीसरा गोल्ड और वेटलिफ्टिंग में 6ठां मेडल दिलाने वाले भारतीय बन गए हैं।

अचिंता शेउली का जीवन परिचय

(Achinta Sheuli Biography in Hindi)

नाम (Name)अंचिता शेउली (Achinta Sheuli)
जन्म (Birth)24 नवंबर 2001
जन्म स्थान (Birth Place)देउलपुर, पश्चिम बंगाल, भारत
गृहनगर (Hometown)देउलपुर, पश्चिम बंगाल, भारत
उम्र (Age)20 वर्ष
पेशा (Profession)वेटलिफ्टर
हाइट (Height)5 फीट, 6 इंच
वेट (Weight)73 kg
प्रतिस्पर्धा (Event)73 kg
शिक्षा (Education)देउलपुर, पश्चिम बंगाल
कोच (Coach)विजय शर्मा
वैवाहिक स्थिति (Marital Status)अविवाहित
रैंकिंग (Ranking)
धर्म (Religion)हिंदू
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय

अचिंता शेउली का परिवार (Achinta Sheuli Family)

पिता (Father’s Name)जगत शेउली
माता (Mother’s Name)पूर्णिमा शेउली
भाई (Brother)आलोक शेउली
बहन (Sister)

अचिंता शेउली का प्रारंभिक जीवन,शिक्षा

इनका जन्म 24 नवंबर 2001 को देउलपुर, पश्चिम बंगाल, भारत में हुआ। इनकी उम्र 20 वर्ष है। अचिंता शेउली ने अपनी शिक्षा पश्चिम बंगाल के सरकारी स्कूल से की, और उसके बाद वह पूरी तरह से अपने भारोत्तोलन करियर पर ध्यान केंद्रित करने लगे।

जब अचिंता सिर्फ 10 साल के थे तो एक दिन पतंग पकड़ते-पकड़ते वे लोकर जिम तक जा पहुंचे। वहां इनके बड़े भाई आलोक वेट लिफ्टिंग की प्रैक्टिस करते थे। अचिंता को यही से प्रेरणा मिली और उनका झुकाव वेटलिफ्टिंग की तरफ हुआ। हालांकि परिवार कीआर्थिक स्थिति बहुत खराब थी। पिता जगत साइकिल रिक्शा चलाते थे और मजदूरी मिलने पर मजदूर का काम भी करते थे, ताकि परिवार की जरूरतें पूरी हो सकें।

वर्ष 2013 में पिता की अचानक मौत ने अचिंता के परिवार के सामने बड़ा संकट खड़ा कर दिया। पिता की मौत के बाद अचिंता के भाई आलोक का सपना भी टूट गया। आलोक ने वेटलिफ्टिंग छोड़ दी और परिवार की जिम्मेदारी के लिए काम करने लगे। इनकी मां पूर्णिमा शेउली ने भी सिलाई-बुनाई का काम शुरू कर दिया ताकि बच्चों का पेट पाल सकें।

अचिंता शेउली का करियर

Achinta Sheuli2 1
Image Credit : Instagram

जब अचिंता सिर्फ 10 साल के थे तो एक दिन पतंग पकड़ते-पकड़ते वे लोकर जिम तक जा पहुंचे। वहां इनके बड़े भाई आलोक वेट लिफ्टिंग की प्रैक्टिस करते थे। अचिंता को यही से प्रेरणा मिली और उनका झुकाव वेटलिफ्टिंग की तरफ हुआ।पिता की मौत के बाद इनके बड़े भाई आलोक ने खुद वेटलिफ्टर बनने का सपना छोड़ दिया, लेकिन अचिंता को वेटलिफ्टर बनाने का सपना संजो लिया।

अचिंता भी टूट चुके थे और खेल से दूरी बनाना चाहते थे। क्योंकि घर की हालत ही ऐसी थी। लेकिन जिला स्तर, जूनियर लेवल और नेशनल स्तर पर अचिंता के प्रदर्शन ने उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया।

आलोक कहते हैं कि मैं जो भी पैसे बचाता था, कोशिश करता था, कि अचिंता की डाइट पूरी कर सकूं। हमने बहुत कम संसाधनों में भी प्रैक्टिस शुरू की और अचिंता लगातार बेहतर प्रदर्शन करते रहे। अचिंता के बेहतर प्रदर्शन ने उन्हें ऐसे पोजीशन पर ला दिया कि एक फाउंडेशन ने उनकी मदद की।

अचिंता शेउली ने अपने वेटलिफ्टिंग करियर की शुरुआत सन 2011 में की थी l अचिंता के भाई ने ही उन्हें भारोत्तोलन में जाने के लिए प्रेरित किया था, और उसी ने उन्हें पहले ट्रेनिंग दी थी। जो कि एक वेटलिफ्टर भी रहे हैं, अचिंता ने अपना पहला पदक सन 2015 में जीता था।

उन्होंने सन 2015 में कॉमनवल्थ यूथ चैंपियनशिप में भारत के लिए अपना पहला पदक जीता था। फिर वह लगातार ऐसा शानदार प्रदर्शन करते रहे और वह साल 2015 में ही आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट में भी शामिल हो गए और उसी साल वहां इंडियन नेशनल कैंप में भी शामिल हुए। उन्होंने आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट में सन 2016 व 17 में ट्रेनिंग की।

2019 में रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट ने अपने एलीट एथलीट स्कॉलरशिप प्रोग्राम के तहतअचिंता का चयन किया। इस प्रोग्राम ने न सिर्फ आर्थिक मदद की बल्कि स्पोर्ट्स सोइकोथेरेपिस्ट और स्पोर्ट्स साइंस स्पेशलिस्ट भी अचिंता के लिए उपलब्ध कराए। फाउंडेश के हॉस्पिटल में अचिंता के न्यूट्रीशंस, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग, साइकोलॉजिक और डेटा एनालिसिस की व्यवस्था कि, ताकि वे इंटरनेशनल कंपीटिशन के लिए पूरी तरह से तैयार हो सकें।

2019 में कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप से शुरू हुई अचिंता के स्पोर्ट्स करियर की शुरुआत। उन्होंने 73 किलोग्राम कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता था और उनका करियर शुरू हो चुका था। इसके बाद उन्होंने फिर से कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियनशिप 2021 में गोल्ड मेडल जीता।

अचिंता शेउली 73 किलो वर्ग में खेलते हैं, जिसके बाद उन्होंने वर्ल्ड लिफ्टिंग चैंपियनशिप 2021 में ही सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया। और फिर कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 (Achinta Aheuli CWG 2022) में उन्होंने भारत के लिए तीसरा गोल्ड जीतकर इतिहास रच दिया है।

अचिंता शेउली कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में

20 साल के अचिंता शेउली ने 73 किलोग्राम भारवर्ग में पार्टिसिपेट किया। इन्होने स्नैच में 143 किलो का वजन उठाया। क्लीन एंड जर्क के पहले प्रयास में 166 किलो और तीसरे प्रयास में 170 किलोग्राम का वजन उठाया। अचिंता दूसरे प्रयास में फेल भी हुए लेकिन तीसरे प्रयास में 170 किलो वजन उठाकर कुल 313 किलो वजन उठाया।

यह कॉमनवेल्थ के लिए भी एक रिकॉर्ड है। खास बात यह रही कि उन्होंने सिल्वर जीतने वाले मलेशियाई खिलाड़ी से 10 किलो ज्यादा वजन उठाया और कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का स्वर्ण पदक अपने नाम किया। कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारत वेटलिफ्टिंग में सबसे ज्यादा मेडल जीतने वाला देश भी है।

अचिंता शेउली के वेटलिफ्टिंग रिकॉर्ड

Achinta Sheuli1
Image Credit : Instagram
  • इन्होंने वर्ष 2019 में कॉमनवेल्थ गेम वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप 73 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता।
  • इन्होंने 2015 में कॉमनवेल्थ यूथ चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता।
  • वर्ष 2018 में इन्होंने एशियाई यूथ चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता।
  • उन्होंने वर्ष 2021 में कॉमनवेल्थ गेम वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप 73 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता।
  • इन्होंने वर्ष 2021 में जूनियर वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप 73 किलोग्राम भार वर्ग में रजत पदक जीता।
  • इन्होने वर्ष 2022 में कॉमनवेल्थ गेम 73 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीता।

अचिंता शेउली सोशल मीडिया (Social media)

InstagramClick Here
TwitterClick Here

अचिंता शेउली नेट वर्थ (Net Worth)

अभी इस बारे में जानकारी नहीं है।

FAQ :

Q : अचिंता शेउली कौन है ?

ANS : अचिंता शेउली एक भारतीय भारोत्तोलक है, जो 73 किलोग्राम भार वर्ग में प्रतिस्पर्धा करते है।

Q : अचिंता शेउली की हाइट कितनी है ?

ANS : 5 फीट, 6 इंच

Q : अचिंता शेउली की उम्र कितनी है ?

ANS : 20 वर्ष

Q : अचिंता शेउली ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में कौन सा पदक जीता ?

ANS : 2022 के राष्ट्रमंडल खेलों में, उन्होंने 313 किलोग्राम का खेलों का रिकॉर्ड बनाया और स्वर्ण पदक जीत लिया।

Q : अचिंता शेउली का धर्म क्या है ?

ANS : हिंदू

अन्य पोस्ट पढ़ें :


Social Share

Leave a Comment

T20 में शतक जड़ने वाले भारतीय बल्लेबाज की लिस्ट शुभमन गिल ने लगाया शानदार शतक भारत ने जीता अंडर-19 क्रिकेट महिला विश्व कप ICC के वर्ष के सर्वश्रेष्ठ T20 क्रिकेटर बने सूर्यकुमार भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्रियों से की शादी केएल राहुल और अथिया शेट्टी आज करेंगे शादी वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी Shubman Gill ने लगाया पहला एकदिवसीय दोहरा शतक