हरीश रावत का जीवन परिचय, जन्म, उम्र, परिवार, पुत्र, पत्नी | Harish Rawat Biography In Hindi

Social Share

हरीश रावत का जीवन परिचय, जन्म, उम्र, परिवार, पुत्र, पत्नी, राजनीतिक दल [Harish Rawat Biography in Hindi] (Birth, Age, Family, Son, Wife, Political Party)

हरीश रावत कांग्रेस पार्टी के एक कद्दावर नेता है, वर्तमान में वे उत्तराखंड की राजनीति में सक्रिय हैं। हरीश रावत फरवरी 2014 से लेकर 2017 तक उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बने। इसके अलावा पांच बार सांसद भी रह चुके हैं, 15वीं लोकसभा में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में रावत जल संसाधन केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं।

इनके मुख्यमंत्री काल में उत्तराखंड में 27 मार्च 2016 को राष्ट्रपति शासन लग गया था। ये उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले के मोहनरी गांव के रहने वाले हैं ,और युवावस्था से ही राजनीति से जुड़े हुए हैं। इन्होंने विद्यार्थी जीवन में ही राजनीतिक क्षेत्र में कदम रखा था।ये पंजाब में कांग्रेस के प्रभारी भी रह चुके हैं। वे गांधी परिवार के विश्वासपात्र भी हैं।

इन्होंने संसदीय मामलों के मंत्रालय ,कृषि मंत्रालय ,खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय और श्रम तथा रोजगार मंत्रालय में राज्यमंत्री के रूप में कार्य भी किया है।

हरीश रावत का जीवन परिचय

नाम (Name) हरीश रावत (Harish Rawat)
जन्म (Born) 27 अप्रैल 1948
जन्म स्थान (Birth Place) अल्मोड़ा (उत्तराखंड)
गृहनगर (Hometown) मोहनरी गांव, अल्मोड़ा
उम्र (Age) 74 वर्ष
पेशा (Profession) राजनीतिज्ञ
हाइट (Height) 5 फुट ,6 इंच
वजन (Weight) 65 kg
पार्टी (Party) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
शिक्षा (Education) B.A , LLB
वैवाहिक स्थिति
(Marital Status)
विवाहित
धर्म (Religion) हिन्दू
राष्ट्रीयता Nationality भारतीय

हरीश रावत का परिवार (Harish Rawat family)

पिता (Father’s Name) राजेंद्र सिंह रावत
माता (Mother’s Name) देवकी देवी
भाई (Brother) चंदन रावत
जगदीश रावत
पत्नी (Wife) रेणुका रावत
पुत्र (Son) आनंद रावत
पुत्री (Daughter) अनुपमा रावत, आरती रावत

हरीश रावत शिक्षा (Harish Rawat Education)

हरीश रावत जी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अल्मोड़ा जिले के भीकियासेड़ ब्लॉक स्थित प्राथमिक स्कूल सिरमोली, उत्तराखंड से प्राप्त की . उन्होंने जूनियर हाई स्कूल चौनलिया से आठवीं की शिक्षा और देवलीखेत से हाई स्कूल की शिक्षा प्राप्त की। इसके बाद रामनगर से इंटरमीडिएट करने के बाद हरीश रावत उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए लखनऊ ,उत्तर प्रदेश चले गए। उसके बाद उत्तर प्रदेश के लखनऊ विश्वविद्यालय से बी.ए की डिग्री प्राप्त की और एलएलबी की उपाधि भी प्राप्त की।

हरीश रावत का राजनीतिक जीवन

हरीश रावत जी एक किसान होने के साथ-साथ सामाजिक कार्यकर्ता भी रहे हैं और उन्होंने श्रमिक संघ से भी संबंधित कई कार्यों में भाग लिया। इनके विद्यार्थी जीवन में ही इन्होंने भारतीय युवा कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली और 1973 में कांग्रेस की युवा इकाई के प्रमुख चुने गए। जो सबसे कम उम्र के युवा थे। आज हरीश रावत उत्तराखंड के नेताओं में माने जाने वाले राजनीतिज्ञ हैं। जिन्होंने कांग्रेस पार्टी को उत्तराखंड में मजबूती के साथ खड़ा किया और केंद्र में कैबिनेट मंत्री पद की जिम्मेदारी भी संभाली।

उसके बाद ये उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी बन गए। जब उत्तराखंड नए राज्य के रूप में उभर कर आया तो ,उस समय कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में हरीश रावत जी सामने आए और प्रदेश में ऐसा बदलाव ला दिया कि 2002 की शुरुआत में हुए पहले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को सत्ता से बेदखल कर दिया और कांग्रेस पार्टी की सरकार उत्तराखंड में बन गई।

रावत जी का बचपन से ही राजनीति की ओर रुझान रहा है। अल्मोड़ा में भिक्यासेड़ और सल्ट तहसील का एरिया स्वतंत्रता संग्राम के दिनों से ही राजनीतिक गतिविधियों में काफी चर्चित रहा। ऐसे वातावरण में पले बढ़े रावत जी का राजनीति से लगाव होना आम बात है। इन्होंने अपने राजनीति करियर की शुरुआत ब्लॉक स्तर से कि जब वे ब्लॉक प्रमुख बने।

इसके बाद जिलाध्यक्ष बने और तुरंत युवा कांग्रेस के साथ जुड़ गए। फिर जिला कांग्रेस अध्यक्ष बने। वे पहली बार 1980 में केंद्र की राजनीति में शामिल हुए ,जब लेबर एंड एंप्लॉयमेंट के कैबिनेट राज्य मंत्री बने। इन्होंने 7 वें लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर उत्तराखंड की हरिद्वार लोकसभा सीट से जीत हासिल की। इसके बाद वे लगातार उस सीट से जीतते चले आ रहे हैं।

1990 में संचार मंत्री बने और मार्च 1990 में राजभाषा कमेटी के सदस्य बने। उसके बाद 1999 में हाउस कमेटी के सदस्य बने और फिर 2001 में इन्हें उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया। 2002 में राज्यसभा के लिए इन्हें चुन लिया गया और 2009 में एक बार फिर लेबर एंड एंप्लॉयमेंट के राज्य मंत्री बने। 2011 में राज्य मंत्री कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण इंडस्ट्री के साथ संसदीय कार्य मंत्री का कार्यभार सौंपा गया। 1980 में ये पहली बार अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के टिकट पर सांसद चुने गए।

इसके बाद 1984 एवं 1989 में भी इन्होंने संसद में इसी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने अखिल भारतीय कांग्रेस सेवा दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद संभाला और 1997 तक इस पद को संभाल रहे थे। इन्होंने 2002 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को जिताया और उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बनी। नारायणदत्त तिवारी के मुकाबले मुख्यमंत्री पद की दावेदारी से बाहर होने के बाद इसी साल नवंबर में रावत को उत्तराखंड से राज्यसभा के सदस्य के रूप में भेजा गया।

2012 में कांग्रेस के प्रदेश में एक बार फिर सत्ता में आने के बाद इनका नाम मुख्यमंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे चलता रहा। लेकिन इस बार भी पार्टी ने इनकी दावेदारी को नकार दिया। उनकी जगह विजय बहुगुणा को मिली। छात्र जीवन में हरीश रावत ने अपने कॉलेज की ओर से विश्वविद्यालय का कई खेलों में प्रतिनिधित्व किया। जैसे –फुटबॉल ,हॉकी कबड्डी और एथलेटिक्स। वे चीन ,नेपाल, थाईलैंड ,जापान, इंडोनेशिया ,इराक सहित अनेक देशों की यात्राएं कर चुके हैं।

सोशल मीडिया (Social Media)

FAQ :

Q : हरीश रावत का जन्म कब और कहां हुआ ?

Ans : हरीश रावत 27 अप्रैल 1947 को उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले में मोहनरी गांव में एक हिंदू परिवार में हुआ।

Q : हरीश रावत रावत की उम्र कितनी है ?

Ans : 74 वर्ष

Q : हरीश रावत के माता पिता का नाम क्या है ?

Ans : इनके पिता का नाम राजेंद्र सिंह रावत और माता का नाम देवकी रावत है।

Q : हरीश रावत की पत्नी का नाम क्या है ?

Ans : रेणुका रावत

Q : हरीश रावत उत्तराखंड के मुख्यमंत्री कब थे ?

Ans : फरवरी 2014 से 2017 में उत्तराखंड के 7 वें मुख्यमंत्री बने।

अन्य पोस्ट पढ़े :


Social Share

Leave a Comment

जानिए रविंद्र जडेजा क्यों हुए वर्ल्ड कप से बाहर लाइगर फिल्म अभिनेत्री अनन्या पांडे फैक्ट मीराबाई चानू ने जीता बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक Actress Tara Sutaria Biography, Age, Height, Family, Moveis, Networth भारती और हर्ष पहली बार नजर आए अपने बेबी के साथ जानिए बेबी का नाम बॉलीवुड की हॉट एक्ट्रेस दिशा पाटनी के बारे में जाने