माधबी पुरी बुच का जीवन परिचय, चेयरपर्सन सेबी, परिवार, सैलरी | Madhuri Puri Buch Biography in Hindi

Social Share

माधबी पुरी बुच का जीवन परिचय, चेयरपर्सन सेबी, परिवार, सैलरी उम्र, शिक्षा, पति, पुत्र, नेटवर्थ [Madhuri Puri Buch Biography in Hindi] (Chairperson Sebi, Age, Family, Education, Husband, Son, Salary, Networth)

माधबी पुरी बुच (Madhabi Puri Buch) को पूजी बाजार नियामक (सेबी) अर्थात भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड की पहली महिला अध्यक्ष बन गयी है। यह पहली बार है जब किसी महिला को सेबी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। बुच का इस पद पर कार्यकाल 3 साल का होगा। बुच सेबी की पूर्णकालिक सदस्य रह चुकी है और अब वे अजय त्यागी का स्थान लेंगी।

माधबी पुरी बुच का जीवन परिचय

नाम (Name)माधबी पुरी बुच
(Madhabi puri buch)
निक नेम (Nick Name)माधबी
जन्म (Birth)12 जनवरी 1966
जन्म स्थान
(Birth place)
मुंबई, महाराष्ट्र, भारत
गृहनगर(Hometown)मुंबई
वर्तमान पतामुंबई ,महाराष्ट्र
उम्र (Age)55 साल
पिता (Father’s Name)कमल पुरी
माता (Mother’s name)
शिक्षा (Education)पोस्ट ग्रेजुएट
स्कूल (School)कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी, दिल्ली
कॉलेज (College)सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली (बी.कॉम)
भारतीय प्रबंधन संस्थान अहमदाबाद (एमबीए) और (पीजीडीएम)
पेशा (Profession)सेबी के अध्यक्ष
वैवाहिक स्थिति विवाहित
पति (Husband)धवल बुच (Dhaval Buch)
बच्चे (Children)
कद (Height)5 फीट 8 इंच
धर्म (Religion)हिन्दू
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
FacebookClick Here

माधवी पुरी बुच का जन्म परिवार एवं शिक्षा :

माधवी पुरी बुच का जन्म 12 जनवरी 1966 को मुंबई, महाराष्ट्र में हुआ था। इनके पिता का नाम कमल पुरी है, माधवी विवाहित है इनके पति का नाम धवल बुच है। इनके पति सिंगापुर में ग्लोबल और एफएमसीजी प्रमुख यूनिलीवर के साथ कार्यरत है। अगर माधवी की शिक्षा की बात करें, तो इन्होंने अपनी स्कूली शिक्षा कान्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल, दिल्ली से पूरी की। बीकॉम की शिक्षा इन्होंने सेंट स्टीफन कॉलेज दिल्ली से प्राप्त की। इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए वे बाद में अहमदाबाद चले गयी ,जहां से उन्होंने भारतीय प्रबंधन संस्थान से एमबीए और पीजीडीएम की डिग्री प्राप्त की।

करियर :

इन्होंने अपने करियर की शुरुआत वर्ष 1988 में प्रोफेशनल असिस्टेंट फॉर डेवलपमेंट एक्शन (प्रदान) में एक सामाजिक कार्यकर्त्ता के रूप में की थी। इसके बाद इन्होने 1989 में आईसीआईसीआई बैंक में प्रोजेक्ट फाइनेंस एनालिस्ट के रूप में भी काम किया। माधवी ने वर्ष 1985 में एक मार्केट रिसर्च कंसल्टेंट में ऑर्ग-मार्ग के रूप में काम करना शुरू किया।

माधवी वर्ष 2001 में ICICI एचएफसी लिमिटेड की सीईओ भी बनी। उन्होंने आईसीआईसीआई 12 वर्षों तक कार्य किया। इस दौरान वे 2009 में ICICI सिक्योरिटीज की प्रबंध निदेशक और सीईओ बनी।

वर्ष 2011 में वे सिंगापुर के ग्रेटर पेसिफिक कैपिटल से जुड़ गई और वहां उन्होंने हेड ऑफ बिजनेस डेवलपमेंट के रूप में कार्य किया।

अन्य तथ्य :

  • माधवी पुरी से भी से जुड़ने से पूर्व शंघाई में स्थित न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) मैं एक सलाहकार के रूप में कार्यरत थी।
  • इन्होंने वर्ष 2009 से लेकर 2011 तक आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज में प्रबंध निदेशक और सीईओ के रूप में कार्य किया है।
  • वर्तमान में वे सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी ) की पहली महिला अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति की गई है।
  • माधवी पुरी अप्रैल 2017 से लेकर अक्टूबर 2021 के बीच सेबी की पूर्णकालिक सदस्य रह चुकी हैं और साथ ही इन्होंने इस पद पर रहते हुए सामूहिक निवेश योजनाओं और निवेश प्रबंधन जैसे विभागों को भी संभाला है।

सेबी (SEBI) के बारे में भी जानें :

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) की स्थापना वर्ष 1995 में हुई थी। तब से यह एक वैधानिक निकाय के रूप में कार्यरत हैं। इसका उद्देश्य प्रतिभूतियों में निवेशकों के हितों की रक्षा करना और प्रतिभूति बाजार को विनियमित करना है।

सेबी के अध्यक्ष की नियुक्ति इसके अधिनियम के अनुसार अधिकतम 5 वर्ष या 65 वर्ष तक जो भी पहले हो के लिए की जाती है।

FAQ :

Q : माधवी पुरी बुच कौन हैं ?

Ans : माधबी पुरी बुच (Madhabi Puri Buch) भारतीय पूजी बाजार नियामक (सेबी) की पहली महिला अध्यक्ष नियुक्त की गयी हैं।

Q : माधवी पुरी बुच के पति कौन हैं ?

Ans : धवल बुच (Dhaval Buch)

Q : माधवी पुरी बुच की उम्र कितनी है ।

Ans : 55 साल


Social Share

Leave a Comment

T20 में शतक जड़ने वाले भारतीय बल्लेबाज की लिस्ट गिल ने की ताबड़तोड़ बैटिंग कीवीयो के खिलाफ लगाया शतक भारत ने जीता अंडर-19 क्रिकेट महिला विश्व कप ICC के वर्ष के सर्वश्रेष्ठ T20 क्रिकेटर बने सूर्यकुमार भारतीय क्रिकेटर जिन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्रियों से की शादी केएल राहुल और अथिया शेट्टी आज करेंगे शादी वनडे में दोहरा शतक लगाने वाले भारतीय खिलाड़ी Shubman Gill ने लगाया पहला एकदिवसीय दोहरा शतक